Friday, 5 October 2018

'बिहार बिहान' में मेरी भेंट वार्ता दूरदर्शन पर.

8 comments:

  1. Ravindra Singh Yadav's profile photo
    Ravindra Singh Yadav
    +1
    वाह! सारगर्भित भेंटवार्ता जिसमें अनेक अनछुये बिषयों पर दर्शकों को जानकारी मिलती है. महान इंजीनियर मोक्षगुंडम विश्वेस्वरैया जी के जीवन से सम्बंधित रोचक बातों की चर्चा से दर्शक लाभान्वित होंगे. आदरणीय विश्वमोहन जी का चर्चा को धाराप्रवाह प्रस्तुतिकरण में तब्दील कर देना उनकी ख़ासियत है.
    सुन्दर कविता का वाचन.
    बधाई एवम् शुभकामनाएं.
    Translate
    18w
    Renu's profile photo
    Renu
    +1

    आदरणीय विश्वमोहन जी -- बहुत ख़ुशी हो रही है - आपके इस सुंदर साक्षात्कार का दर्शन करके | हर विषय पर आपका ज्ञान का आकाश बहुत ही विस्तृत है और विस्मयकारी भी | इतनी सुंदर साहित्य चर्चा हमारे जैसे आम लोगों के लिए बहुत दुर्लभ है |आपके हिंदी के विषय में सकारात्मक संवाद बहुत बड़ी आशा का संचार करते हैं | इसके साथ इस भेटवार्ता के माध्यम से आपके बारे में विस्तार से जानकर अपार हर्ष हुआ | एकगरिमायुक्त और दायित्वपूर्ण पद को सुशोभित करते हुए - कानून के उत्तम जानकर होना और साथ में इतना सुंदर , विद्वतापूर्ण साहित्य सृजन !!!!!! माँ सरस्वती आपकी लेखनी को बूरी नजर से बचाए और इसका प्रवाह अनंत , अविरल हो | आपके द्वारा रचनाओं का वाचन बहुत मनभावन लगा | इस सुंदर , मनमोहक प्रस्तुति को हम पाठकों के लिए उपलब्ध करवाने के लिए सादर आभार | और हिंदी में हस्ताक्षर की कसम और उसका आपके द्वारा निरंतर निर्वहन करना बहुत प्रेरक है | | हम सभी को इस आदत को हिन्दी के सम्मान में जरुर अपनाना चाहिए | हिंदी को गर्व है आप जैसे अनन्य हिंदी प्रेमियों पर | सादर शुभकामनायें |
    Translate
    18w
    Vishwa Mohan's profile photo
    Vishwa Mohan
    +1
    +Ravindra Singh Yadav जी, अत्यंत आभार आपका!!!
    18w
    Vishwa Mohan's profile photo
    Vishwa Mohan
    +Renu जी, अत्यंत आभार आपका!!!
    18w
    Rajiv Singh's profile photo
    Rajiv Singh
    +1
    बहुत ही सुन्दर विशलेषण एवं प्रस्तुति सर
    Translate
    18w
    Vishwa Mohan's profile photo
    Vishwa Mohan
    +Rajiv Singh जी, अत्यंत आभार आपका!!!
    18w
    Roli Abhilasha (अभिलाषा)'s profile photo
    Roli Abhilasha (अभिलाषा)
    +1
    चर्चा सुनकर बहुत प्रसन्नता की अनुभूति हो रही है...एक विश्लेषणात्मक प्रस्तुति...हिंदी को प्रयोग में लाने के लिए प्रयास अनुकरणीय हैं।
    Translate
    18w
    Vishwa Mohan's profile photo
    Vishwa Mohan
    +1
    जी, अत्यन्त आभार आपका!!!
    17w

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर चर्चा, बेहतरीन विचारों को सुनने का सौभाग्य मिला
    सादर

    ReplyDelete
  3. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  4. वाह! कितने ही विषयों को छूते हुए इस खूबसूरत चर्चा के द्वारा महत्वपूर्ण जानकारीयों को हम सब तक पहुँचा कर आपने तो हमे लाभान्वित कर दिया।
    आदरणीय सर आपके जीवन में मिले अनुभव हम सब के लिए प्रेरणादायी और शिक्षाप्रद हैं।महान व्यक्तित्व के धनी इंजीनियर विश्वेस्वरैया जी से जुड़ी बातें बेहद रोचक थी। कानून,इंजीनियरींग और साहित्य में समानता को आपने अद्भुत ढंग से प्रस्तुत किया। आपकी चारों कविताएँ अप्रतिम लगी। हिंदी के विस्तार को लेकर जो तथ्य आपने प्रस्तुत किए वह भी बहुत अहम् है।
    एक बात और जोड़ना चाहूँगी आदरणीय सर स्मरण शक्ति हमारी भी बहुत खराब है हमे भी अपनी कविताएँ याद नही रहती।

    इस सुंदर भेंट वार्ता के लिए आपको हार्दिक बधाई और ढेरों शुभकामनाएँ
    सादर नमन

    ReplyDelete
    Replies
    1. वाह! सुंदर और विरल शब्दों के इस सरस एवं सरल प्रवाह का हृदय तल से आभार

      Delete
  5. ढेर सारी बधाई आदरणीय 💐💐💐 बहुत खूबसूरत चर्चा 👏👏👏👏👏

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी, अत्यंत आभार आपके धैर्य का।

      Delete