Saturday, 14 March 2020

दूरदर्शन पर चर्चा : सोशल साइट, साहित्य और महिलाएं

22 comments:

  1. " बिहार बिहान "पर आपकी प्रस्तुति बहुत ही लाज़बाब हैं विश्वमोहन जी ,आपको ढेरों शुभकामनाएं एवं बधाई

    ReplyDelete
  2. शानदार साक्षात्कार "विहार विहान" पर काव्य पाठ भी बहुत ही सुन्दर....
    बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनाएं आदरणीय।

    ReplyDelete
  3. सुन्दर चर्चा आदरणीय विश्वमोहन जी ! महिलाओं को गौरवान्वित करती चर्चा , महिला ब्लोगर्स के लिए बहुत सम्मान का विषय है |नारी समाज के लिए आपके सुसंस्कारों और उद्दात विचारों का हार्दिक अभिनन्दन है | सोशल मीडिया लोगों के लिए हर तरह से लाभकारी है बशर्ते इसके नकारात्मक प्रयोग और प्रभावों से बचा जाए | सोशल मीडिया की सबसे बड़ी सार्थकता उन महिलाओं ने सिद्ध की है , जो घरेलू कामकाज के साथ भी अपनी रचनात्मकता के जरिये , पूरे संसार से मुखातिब हैं | काव्यपाठ इस सुंदर चर्चा में सोने पे सुहागा है |सभी रचनाएँ शानदार थी | आपके बारे में बहुत कुछ नया जाना | आपकी बहुआयामी प्रतिभा को माँ सरस्वती बूरी नजर से बचाए यही कामना है | कोटिआभार ये साक्षात्कार शेयर करने के लिए | दोनों कार्यक्रम प्रस्तुतिकार प्रशंसा की पात्र हैं जिन्होंने बहुत सार्थक प्रश्नों से चर्चा को विस्तार दिया | हालाँकि ऐसे कार्यक्रमों में वक्ता को अपनी पूरी बात करने से पहले ही टोकने की परम्परा बन चुकी है | इससे बचा जाना चाहिए | सादर

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपके इस अनुपम आशीष का हृदयतल से आभार। आपका आशीष बस यूँ ही बना रहे🙏🙏🙏🙏

      Delete
  4. सादर नमस्कार ,

    आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल मंगलवार (17 -3-2020 ) को मन,मानव और मानवता (चर्चा अंक 3643) पर भी होगी,

    आप भी सादर आमंत्रित हैं।
    ---
    कामिनी सिन्हा

    ReplyDelete
  5. विश्वमोहन जी, बहुत ही सुंदर चर्चा के लिए आपको बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनाएं...

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी, अत्यंत आभार आपका।

      Delete
  6. हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  7. अच्छी है चर्चा ...
    बहुत बहुत बधाई ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी, अत्यंत आभार आपका।

      Delete
  8. बहुत बहुत बधाई आदरणीय 💐💐💐 आपके विषय में जानकर बहुत खुशी हुई और सुंदर रचनाओं को सुन कर मन प्रसन्न हो गया 👌👌👌

    ReplyDelete
  9. बहुत सुंदर सृजन

    ReplyDelete
  10. हर प्रश्न का सहज, सुगम एवं व्याख्यापरक उत्तर दिया आदरणीय विश्वमोहन कुमार जी ने, बधाई!

    ReplyDelete